top of page
खोज करे
  • vijay748

विवाह के लिए बेची गई नाबालिग का विवाह रुकवाकर लड़के को भेजा जेल

एक दुखद घटना हमारे सामने आई, जिसमें ओडिशा राज्य में एक माँ ने अपनी 15 वर्षीय नाबालिग बेटी को एक 21 वर्षीय लड़के को 20 हज़ार रुपये में शादी के लिए बेच दिया| इसका खुलासा तब हुआ, जब चाइल्ड हेल्पलाइन ने बाल कल्याण समिति को इस बाल विवाह के बारे में बताया|


‘रुचिका सामाजिक सेवा संगठन’ ने जिला बाल संरक्षण अधिकारी, बाल विवाह निषेध अधिकारी और पुलिस के साथ घटनस्थल पर पहुँचकर शादी रुकवा दी| पुलिस ने लड़के को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया और दोनों पक्षों के माता-पिता को बाल कल्याण समिति के सामने प्रस्तुत किया| दोनों पक्षों ने इस बात का विश्वास दिलाया कि विवाह की उचित उम्र तक वे अपने बच्चों की शादी नहीं करेंगे|


2 दिन बाद नियमित फॉलो-अप से टीम को पता चला कि लड़की दूल्हे के घर पर है। आंगनवाड़ी कार्यकर्ता और एनजीओ की मदद से बच्ची को बचाया गया, विवाह को रद्द कराया गया और बाल कल्याण समिति के निर्देश के अनुसार बच्ची को घर भेज दिया गया। लड़की से लगातार फॉलो-अप किया गया| उसकी काउंसलिंग की गई और फिर से उसका स्कूल में दाखिला कराया गया|

2 दृश्य0 टिप्पणी

हाल ही के पोस्ट्स

सभी देखें

बारात के आने से पहले रोका गया नाबालिग लड़की का बाल विवाह

हरयाणा के ‘एमडीडी ऑफ इंडिया’ एनजीओ द्वारा पूरे देश में बाल विवाह रोकने के लिए खास मुहिम चलाई जा रही है| इसी के तहत बाल विवाह होने की सूचना पर एनजीओ ने विवाह स्थल पर अचानक पहुँचकर 15 साल की जिया (बदला

जबरन की गई शादी की जंजीरों से नाबालिग बहनों को मुक्त कराया

14 और 12 साल की दो बहनें राजस्थान राज्य में एक साधारण परिवार में पली-बढ़ी थीं| बच्चियों के पिता की असामयिक मृत्यु के बाद परिवार के आर्थिक हालात बहुत खराब हो गए थे| माँ ने एक फैक्ट्री में अथक परिश्रम क

Comentarios


bottom of page